दुर्गा आरती Durga aarti Lyrics In Hindi

दुर्गा चालीसा Durga Chalisa Lyrics In Hindiदुर्गा आरती Durga aarti Lyrics In Hindi Durga aarti ॐ जय अम्बे गौरी Lyrics In Hindi Pdf download Durga aarti For Navratrti 2019 First Day Aarti Chalisa Lyric In Hindi Font With Video and Audio Song.

More Aarti and Chalisha Lyrics – Bhakti Songs

Thanks For Visting Us, Keep Visting For Songs lyrics of Hindi,Punjabi and Bhojpuri Songs and Movies

Navratrti Songs First day second day third day fourth day fiftth day sixth day seventh day navmi dasmi poja aarti lyrics in hindi.
Devi Bhajan: Durga aarti with Lyrics.
Singer: Anuradha Paudwal
Composer: DURGA PRASAD
Lyrics: TRADITIONAL
Album: DURGA CHALISA DURGA KAWACH
Music Label: T-Series

Durga Aarti Full Video Song

दुर्गा आरती Durga aarti Lyrics In Hindi

ॐ जय अम्बे गौरी,
मैया जय श्यामा गौरी,
तुम को निशदिन ध्यावत,
तुम को निशदिन ध्यावत,
हरि ब्रह्मा शिवरी,
ॐ जय अम्बे गौरी…

ॐ जय अम्बे गौरी,
मैया जय श्यामा गौरी,
तुम को निशदिन ध्यावत,
तुम को निशदिन ध्यावत,
हरि ब्रह्मा शिवरी,
ॐ जय अम्बे गौरी…

मांग सिंदूर विराजत,
टीको मृगमद को,
मैया टीको मृगमद को,
उज्जवल से दो नैना,
उज्जवल से दो नैना,
चन्द्र बदन नीको,
ॐ जय अम्बे गौरी…

कनक समान कलेवर,
रक्ताम्बर राजे,
मैया रक्ताम्बर राजे,
रक्त पुष्प दल माला,
रक्त पुष्प दल माला,
कंठन पर साजे,
ॐ जय अम्बे गौरी…

केहरि वाहन राजत खड़्ग खप्पर धारी
सुर-नर मुनिजन सेवत तिनके दुखहारी,
ॐ जय अम्बे गौरी…

कानन कुण्डल शोभित नासग्रे मोती
कोटिक चन्द्र दिवाकर राजत सम ज्योति,
ॐ जय अम्बे गौरी…

शुम्भ निशुम्भ विडारे महिषासुर धाती
धूम्र विलोचन नैना निशदिन मदमाती,
ॐ जय अम्बे गौरी…

चण्ड – मुंड संहारे सोणित बीज हरे
मधु कैटभ दोऊ मारे सुर भयहीन करे,
ॐ जय अम्बे गौरी…

ब्रह्माणी रुद्राणी तुम कमला रानी
आगम निगम बखानी तुम शिव पटरानी,
ॐ जय अम्बे गौरी…

चौसठ योगिनी मंगल गावत नृत्य करत भैरु
बाजत ताल मृदंगा और बाजत डमरु,
ॐ जय अम्बे गौरी…

तुम ही जग की माता तुम ही हो भर्ता
भक्तन की दुःख हरता सुख सम्पत्ति कर्ता,
ॐ जय अम्बे गौरी…

भुजा चार अति शोभित वर मुद्रा धारी
मन वांछित फ़ल पावत सेवत नर-नारी,
ॐ जय अम्बे गौरी…

कंचन थार विराजत अगर कपूर बाती
श्रीमालकेतु में राजत कोटि रत्न ज्योति,
ॐ जय अम्बे गौरी…

श्री अम्बे जी की आरती जो कोई नर गावे
कहत शिवानंद स्वामी सुख संपत्ति पावे,
ॐ जय अम्बे गौरी…

Errors,Suggestions..? Comment In Box