BhojpuriBhojpuri Sad Songs

Jaan Mor Rowat Hoihe Lyrics – Neeraj Lal Yadav | New Bhojpuri Sad Song 2018

Jaan Mor Rowat Hoihe Lyrics - Neeraj Lal Yadav
Jaan Mor Rowat Hoihe Lyrics – Neeraj Lal Yadav Pawan Singh बैइठ के संझिया विहान जान मोरा रोवत होइहे, Is New Bhojpuri Sad Song Sung By Neeraj The Man With Voice Like Pawan Singh. Song Is Composed By Dj Aditya And Penned By Neeraj Nirmal. Song is Released Neeraj Lal Yadav Official Channel On 17th Nov. 2018. Enjoy The Lyrics in Hindi And Video Song Of Jaan Mor Rowat Hoihe.
Song : Jaan Mor Rowat Hoihe
Singer : Neeraj Lal Yadav
Music : Dj Aditya
Lyrics : Neeraj Nirmal
Label : Neeraj Lal Yadav.

Thanks For Visting Us, Keep Visting For Songs lyrics of Hindi,Punjabi and Bhojpuri Songs and Movies

All Sad Lyrics From Bhojpuri Songs

Jaan Mor Rowat Hoihe Full Video Song – Neeraj Lal Yadav
[embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=BpYL2mzNwG4&width=360&height=215[/embedyt]

Jaan Mor Rowat Hoihe Lyrics – Neeraj Lal Yadav

[ म्यूजिक ]

रोवत होइहे ..
रोवत होइहे ..

छोड़ नईहरवा उ गइली ससुरवा ,
तड़पत होई परान ,
जान मोरा रोवत होइहे..

छोड़ नईहरवा उ गइली ससुरवा ,
तड़पत होई परान ,
जान मोरा रोवत होइहे,
बैइठ के संझिया विहान ,
जान मोरा रोवत होइहे,
बैइठ के संझिया विहान ,
जान मोरा रोवत होइहे..

ऐसे ही सुपरहिट गाने के lyrics हिंदी में पढने
के लिए visit करते रहिये LyricalDuniya.com
NO.1 भोजपुरी सांग लिरिक्स साईट

[ म्यूजिक ]

की हमके देखला बिना रात कइसे कटत होई ,
त एको छन ना ध्यान मन से हटत होई..

की हमके देखला बिना रात कइसे कटत होई ,
त एको छन ना ध्यान मन से हटत होई,
बाड़ी ना भिरिया बा लागल फिकिरिया ,
दिलवा बा परेशान,
जान मोरा रोवत होइहे,

बाड़ी ना भिरिया बा लागल फिकिरिया ,
दिलवा बा परेशान,
जान मोरा रोवत होइहे,
बैइठ के संझिया विहान ,
जान मोरा रोवत होइहे..

[ म्यूजिक ]

की हमसे खाईल उ कसम के भुलईहे कईसे,
की दरद दिलवा के सैयां से बतईहे कैईसे…

की हमसे खाईल उ कसम के भुलईहे कैईसे,
की दरद दिलवा के सैयां से बतईहे कैईसे,
आदित नीरज निर्मल रहे उनका,
चेहरा के मुस्कान,
जान मोरा रोवत होइहे..

आदित नीरज निर्मल रहे उनका,
चेहरा के मुस्कान,
जान मोरा रोवत होइहे,
बैइठ के संझिया विहान ,
जान मोरा रोवत होइहे..

बैइठ के संझिया विहान ,
जान मोरा रोवत होइहे..

Errors ,Suggestions..?? Comment In Box

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: